March 2018

नौछमी नारेणा के नायक दयालधर तिवाड़ी नहीं रहे

निखिल दुनिया ब्यूरो। नई टिहरी। सूपरहिट नौछमी नारेणा गीत में अपने अभिनय की प्रतिभा का लोहा मनवाने वाले 72 वर्षीय चर्चित नायक दयालधर तिवाड़ी नहीं रहे। उन्होंने पल्या गों की सुरजा, माया लागी रे और…


व्हाट्‍सएप फॉरवर्ड मैसेज फीचर में जल्द मिलने वाली है यह सुविधा

मैसेजिंग एप व्हाट्‍सएप जल्द ही अपने ‘फॉरवर्ड मैसेज’ फीचर को अपडेट करने वाली है। इस अपडेट के बाद यूजर्स एक ही मैसेज को कई अलग-अलग ग्रुप में भेजेगा, तो आपको पता चल जाएगा कि यह…


मृत्यु कोई वस्तु नहीं है

(स्वामी विवेकानन्द) आत्मा तलवार की धार से कट नहीं सकती, आग से जल नहीं सकती, पानी में डूब नहीं सकती और वायु उसे सुखा नहीं सकती। प्रत्येक जीवात्मा एक गोलाकार के समान है जिसकी गोलाई…


ब्रह्म की सर्वव्यापकता

(योगिराज अरविन्द) ब्रह्म का न आदि है और न अन्त। वह अखण्ड है। उसके खण्ड-खण्ड नहीं किये जा सकते। इस पृथ्वी पर समस्त वस्तुओं की योजना इसी ब्रह्म से परिपूर्ण है। अनन्त ब्रह्माण्ड भी इसी…


किस धर्म को स्वीकार करें

परमहंस स्वामी रामतीर्थ जी महाराज ने इसके संबंध में 8 बातें बतलायी हैं- 1- किसी धर्म को इसलिये अंगीकार मत करो कि वह सबसे प्राचीन है। सबसे प्राचीन होना उनके सच्चे होने का प्रमाण नहीं…


अध्यात्म का मूल- अजपा जप

निखिल दुनिया ब्यूरो। ‘सोऽहम्’ का अर्थ है- ‘वह आत्मा – परमात्मा मैं हूँ । अपने में ईश्वरीय भाव की प्रतिष्ठा करने से आत्मा में परमात्मा की झाँकी होने लगती है और आत्म दर्शन का समाधि सुख प्राप्ति…


योग के बदलने लगे मायने

निखिल दुनिया ब्यूरो। हमारा पुरातन योग कुछ लोगों के कारण योग से योगा हो गया है। योग के शाब्दिक अर्थ पर जाएं तो सीधे-सीधे जोड़ को योग कहते हैं। इस संदर्भ में प्रश्न उठता है…


जानिए, क्यों कलियुग में रुद्र की उपासना है जरूरी?

निखिल दुनिया ब्यूरो। परब्रह्म परमात्मा निराकार निर्विकार निश्कल आदि है। वह वर्णन का विषय ही नहीं है पर जब वह त्रिगुणात्मिका प्रकृति से संपर्क करता है, सगुण रूप होता है तब वह वर्णन के क्षेत्र…


भद्रा के कारण दो घंटे ही रहेगा होलिका दहन का शुभ मुहूर्त

निखिल दुनिया ब्यूरो। होलिका दहन के साथ ही होली का उत्सव शुरू हो गया। मगर इस साल होलिका दहन पर भद्रा का साया रहेगा। इसलिए इस साल एक मार्च को दो घंटे ही होलिका दहन…