30 अप्रैल को खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट

डाॅ. प्रभाकर जोशी, निखिल दुनिया ब्यूरो। देश के प्रसिद्ध चार धामों में से एक श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित कर दी गयी है। धाम के कपाट आगामी 30 अप्रैल को सुबह साढ़े चार बजे श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। नरेंद्रनगर राजमहल में बोलांदा बदरी टिहरी नरेश महाराजा मनुजेंद्र शाह ने बसंत पंचमी के पावन पर्व पर पंचाग व गणेश पूजा के उपरांत कपाट खुलने की तिथि की घोषणा की।

सोमवार को नरेंद्रनगर स्थित राजमहल में बदरी केदारनाथ मंदिर समिति, वेदपाठी, पुरोहितों की उपस्थिति में पंचांग की गणना कर मंदिर खुलने का समय निकाला गया। पूजन-अर्चन और हवन के साथ पंचांग गणना कर शुभ मुहूर्त तय किया। इसके पश्चात दशकों पुरानी परंपरा के अनुसार टिहरी राजघराने के मुखिया महाराजा मनुजेंद्र शाह ने कपाट खुलने की तिथि आगामी 30 अप्रैल को ब्रह्ममुहूर्त में सुबह साढ़े चार  बजे की घोषणा की।

विदित हो कि भगवान बदरीनाथ के अभिषेक के लिए विशेष तिल के तेल का प्रयोग किया जाता है। इसे परंपरानुसार राजमहल में ही सुहागिनों के हाथों पिरोया जाता है। 7 अप्रैल को टिहरी राजदरबार में महारानी व अन्य सुहागिन महिलाओं के द्वारा भगवान बदरी विशाल के लिए तिलों का तेल पिरोया जाएगा।

इस मौके पर महारानी व टिहरी सांसद राज्यलक्ष्मी शाह, बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष गणेश गोदियाल, सीईओ बीडी सिंह, धर्माधिकारी भुवन उनियाल, बदरीनाथ के रावल ईश्वर नंबूदरी आदि उपस्थित थे।