धर्म और अध्यात्म

भीम को कैसे मिला था हजारों हाथियों का बल

निखिल दुनिया ब्यूरो। भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्धों में महाभारत के युद्ध की गिनती की जाती है। इस युद्ध में एक से एक शक्तिशाली योद्धाओं ने भाग लिया था। मगर हम इस लेख में एक…


स्वामी रामतीर्थ का विज्ञान और अध्यात्म का समन्वय

निखिल दुनिया ब्यूरो। अधिकांश लोग सोचते हैं कि विज्ञान और अध्यात्म एक-दूसरे के विपरीत हैं। मगर हकीकत में दोनों एक दूसरे के शत्रु नहीं एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। विज्ञान हमें अध्यात्म से…


यह है सुखी रहने का सरल तरीका

निखिल दुनिया ब्यूरो। एक आश्रम में एक महात्मा अपने शिष्य के साथ रहते थे। एक दिन शिष्य ने महात्मा जी से कहा एक भक्त ने आश्रम के लिए गाय दान में दी है। महात्मा ने…


सिर पर शिखा रखने के हैं अनेक फायदे

निखिल दुनिया ब्यूरो। वैदिक संस्कृति में चोटी को शिखा कहते हैं। लेकिन यह सिर्फ मान्यता या परंपरा नहीं है। बल्कि इसे वैज्ञानिक तौर पर भी स्वीकृत किया गया है। वास्तव में मानव शरीर को प्रकृति…


No Picture

क्यों मृत्यु नहीं है जीवन का अंत

स्वामी शिवानंद मृत्यु का अर्थ है भौतिक शरीर से आत्मा का जुदा होना है। मृत्यु नये और बेहतर जीवन का एक प्रारंभिक बिन्दु बन जाता है। यह जीवन के उच्च रूप का द्वार खोलता है।…


गाय से जुड़े बहुत कारगर उपाय

हिंदू धर्म में गाय को माता कहा गया है। ग्रंथों में गाय की उपयोगिता और उसके पूजनीय होने के बारे में कई जगह लिखा गया है। आइए जानते हैं गाय से जुड़े 5 उपाय जो…


No Picture

सुंदरकांड पढ़ने से होते हैं ये 5 फायदे

श्रीरामचरित मानस के सुंदरकांड अध्याय में बजरंग बली की महिमा का विस्तृत वर्णन मिलता है। मान्यता है कि इसे पढ़ने से व्यक्ति में आत्मविश्वास का संचार होता है। कहा तो यह भी जाता है कि…


No Picture

क्या जेनेटिक तरीके से पैदा की गई फसलें फायदेमंद हैं?

बायोटेक्नालॉजी की कंपनी ‘बायोकॉन लिमिटेड’ और आई आई एम बेंगलुरु की चेयरपर्सन डॉ किरन मजूमदार शॉ ने सद्‌गुरु से बातचीत की। पेश है उस संवाद की एक कड़ी: किरण मजूमदार शॉ: सद्‌गुरु, ‘जेनेटिकली मॉडिफायड’ फसलों…


No Picture

निराकार परमात्मा

अन्तवत्तु फलं तेषां तद्भवत्यल्पमेधसाम् | देवान्देवयजो यान्ति मद्भक्ता यान्ति मामपि || गीता 7/23|| अर्थ : निःसंदेह उन अल्प बुद्धि वालों का वह फल नाशवान है। देवताओं को पूजने वाले देवताओं को प्राप्त होते हैं और मेरे…


No Picture

संतान को संस्कारी बनाने के लिए जरूरी हैं ये बात भी

घर-परिवार में सबसे मुश्किल होता है, संतान को संस्कारी बनाना। ये बात पूरी तरह गलत है कि बच्चों को संस्कारी और योग्य बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा सुख-सुविधाओं की आवश्यकता होती है। “अभाव” में भी संतानों…